दीर्घ स्वर संधि किसे कहते है ? परिभाषा व 50 + उदहारण | Dirgh Sandhi In Hindi

दीर्घ स्वर संधि किसे कहते है ? परिभाषा व 50 + उदहारण | Dirgh Sandhi In Hindi
दीर्घ स्वर संधि किसे कहते है ? परिभाषा व 50 + उदहारण | Dirgh Sandhi In Hindi

संधि किसे कहते है ? sandhi in hindi

साधारण भाषा मे संधि का अर्थ योग अथवा मेल अर्थात दो ध्वनियों या दो वर्णो के मेल (जोड़) से होने वाले परिवर्तन को ही संधि कहते है ।

सन्धि की परिभाषा {  sandhi ki paribhasha } :- 

जब दो या दो से अधिक वर्ण पास-पास आते है तो कभी कभी उनमे रूपांतर हो जाता है। इसी रूपांतर को संधि कहा जाता है। 

स्वर (Swar Sandhi )सन्धि किसे कहते है ? परिभाषा 


जब दो स्वर आपस मे मिलकर कोई विकार या परिवर्तन उत्पन्न करते है स्वर सन्धि कहा जाता है। और स्वर संधि के पांच भेद होते है । और आज हम स्वर संधि के एक भेद दीर्घ सन्धि के बारे में जानेंगे ।
 

दीर्घ सन्धि किसे कहते है ? परिभाषा


परिभाषा :-
                 जब समान स्वर मिलकर दीर्घ[बड़ा] हो जाते है यदि 'अ' 'आ' 'इ' 'ई' 'उ' 'ऊ' के बाद मे लघू या दीर्घ स्वर आए तो दोनों मिलकर क्रमसः 'आ' 'ई' 'ऊ' हो जाते है ।

  • अ/अ=   आ हो जाता है
  • अ/आ=  ही होगा
  • आ/अ= आ ही होगा
  • आ/आ= आ ही होगा
  • इ/इ=ई हो जाता है
  • ई/इ=ई ही होगा
  • इ/ई=ई  ही होगा
  • ई/ई=ई  ही होगा

इस प्रकार 'उ''ऊ' के तथा ऋ के भी होगें


अ+अ=आ  के उदाहरण 

सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
वर्णानुसारवर्ण+अनुसार
स्वार्थस्व+अर्थ
स्वभावस्व+अभाव
परास्तपर+ अस्त
  

अ+आ के उदाहरण

सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
निराकारनीर+आकर
कार्यालयकार्य+आलय।
जलाशयजल+आशय
पुस्तकालयपुस्तक+आलय
मेघालयमेघ +आलय 

आ+अ= आ के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
विद्यार्थीशिक्षा+अर्थी
यथार्थयथा+अर्थ
सेवार्थसेवा +अर्थ
कदापिकदा+अपि
 

आ+आ=आ के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
मायाजाल
        माया+जाल   
महाराजा
        महा+राजा 
चिकित्सालय
       चिकित्सा+आलय
वार्तालाप
        वार्ता+आलाप 

इ+इ=ई  के उदाहरन


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
गिरिन्द
        गिरि+इंद्र   
मुनींद
        मुनि+इन्द्र 
अतीव
       अति+इव
सचीन्द
          सचि + इन्द्र  

ई+इ =ई के उदाहरण 


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
पत्नीष्ट
        पत्नी+इष्ट    
लक्ष्मीच्छा
        लक्ष्मी+इच्छा 
सतीश
         सती+इश
देवीष्ट
          देवी+इष्ट 

इ+ई=ई के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
हरीश
        हरि+ईश   
मुनीश्वर
        मुनि+ईश्वर
परीक्षा
       परि+इक्षा
गिरीश
        गिरी+ईश  

ई+ई=ई के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
रजनीश
        रजनी+ईश   
नदीश
          नदी+ईश 
नारीश
           नारी+ईश 
सतीश
           सती+ईश

 उ+उ=ऊ के उदाहरण


सन्धि पदसन्धि विच्छेद
     भानूदय        भानु+उदय
     गुरूपदेश        गुरु+उपदेश
      लघुत्तम         लघु+उत्तम
     अनूदित         अनु+उदित
     लघुदाहरन        लघु+उदाहरण
 

उ+ऊ=ऊ के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
लघुर्मि
        लघु+ऊर्मि        
सिन्धूर्मी
        सिंधु+ऊर्मि 
अंबुर्मी
        अंबु+ऊर्मि  
धातूष्मा
        धातु+ऊष्मा    

ऊ+उ=ऊ के उदाहरण


सन्धि शब्दसन्धि विच्छेद
भूपरी
        भू+उपरि   
वधूर्मी
        वधू+उर्मि 
वधूत्सव
       वधू+उत्सव
भूध्दार
        भू+उध्दार 

ऊ+ऊ=ऊ के उदाहरण


सन्धि पदसन्धि विच्छेद
     सर्यूर्मी        सरयू+ऊर्मि
     भूर्जा        भू+ऊर्जा
     भूष्मा         भू+ऊष्मा
     चक्र्यूनुमा         चक्र्यू+नुमा
 

अंतिम शब्द 


आज हमने इस आर्टिकल में दीर्घ स्वर संधि किसे कहते हैं ? परिभाषा व संधि के भेद कितने व कौंन कौनसे है ? इन सभी के बारे में विस्तार से व सरल भाषा मे समझने का प्रयास किया है । यदि आपको यह लेख पसंद आया है और इस आर्टिकल से कुछ सीखने को मिला हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें । और यदि आपको लगता है कि इस आर्टिकल में कोई कमी महसूस होती है तो नीचे हमे comment box में जरूर अवगत कराएं । ताकि हम आपकी जरूर के अनुसार आर्टिकल को बना सके , आपके सुझाव हमेशा आमंत्रित है ।

धन्यवाद !

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ